जब अन्नू कपूर के प्रियंका के ऊपर किये टिप्पणी बनीं सुर्खियां

अभिनेता ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत वर्ष 1983 में फ़िल्म ‘मंडी’ से की थी। आप सभी ने उन्हें बॉलीवुड की कई फ़िल्मों में देखा होगा जो बेहतरीन रही हैं. हालांकि अन्नू को बॉलीवुड में पहचान फ़िल्म ‘उत्सव’ से मिली। 

अभिनेता अन्नू कपूर लगभग चार दशकों से फ़िल्म उद्योग का हिस्सा हैं और उन्होंने 1983 में अपनी शुरुआत की। उन्होंने सैकड़ों बॉलीवुड फ़िल्मों में अपने किरदार से जनता को प्रभावित किया है। साथ ही उन्होंने अपने जीवन में कई टीवी शो में भी कार्य किया है। इस अभिनेता को दो राष्ट्रीय पुरस्कारों से भी सम्मानित किया जा चुका हैं।

लेकिन क्या आपको पता है कि सन 2011 में, अन्नू कपूर अपने अभूतपूर्व अभिनय कौशल के लिए नहीं, बल्कि अपनी कुछ टिप्पणियों के लिए सुर्खियों में आए। असल में उन्होंने अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा पर कुछ अनोखे और अजीब कमेंट किये थे जिससे अभिनेत्री परेशान हो गयी थी। इस लेख में हम अन्नू कपूर के उसी टिप्पणी की बात करेंगे।

अभिनेता ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत वर्ष 1983 में फ़िल्म ‘मंडी’ से की थी। आप सभी ने उन्हें बॉलीवुड की कई फ़िल्मों में देखा होगा जो बेहतरीन रही हैं. हालांकि अन्नू को बॉलीवुड में पहचान फ़िल्म ‘उत्सव’ से मिली। 

आप सभी को बता दें कि उस दौर में अन्नू कपूर के पिता मदन लाल एक थिएटर कंपनी चलाते थे और उनकी मां टीचर थीं. उस समय उनका परिवार बहुत मुश्किल दौर से गुज़रा था। अगर आपको याद हो तो टीवी शो ‘अंताक्षरी’ उनके यादगार शो में से एक है और उन्हें हिंदू धर्मग्रंथों का भी ज्ञान है।

अन्नू कपूर और प्रियंका ने एक साथ सबसे पहले अक्षय कुमार-स्टारर फ़िल्म ऐतराज़ में काम किया था। यह मूवी 2004 मे आयी थी, इसके बाद वे दोनों एक साथ विशाल भारद्वाज की मूवी “सात खून माफ़” में दिखाई दिए। यह घटना इसी मूवी की है।

रस्किन बॉन्ड की किताब सुज़ाना के “सेवन हस्बैंड्स” पर आधारित फ़िल्म में इरफान खान, नसीरुद्दीन शाह, जॉन अब्राहम, नील नितिन मुकेश और रूसी अभिनेता अलेक्जेंडर डायचेंको भी थे। ये सब मूवी में प्रियंका के पति के किरदार में दिखे थे, उसी किरदार में अन्नू कपूर भी थे। फ़िल्म के प्रमोशन के दौरान 2011 में प्रियंका और कपूर की ज़ुबानी जंग ने इंडस्ट्री को हिला कर रख दिया था।

अन्नू ने दावा किया था कि प्रियंका ने उनके साथ इंटीमेट सीन करने से मना कर दिया था।

अन्नू ने कहा कि वहअच्छेदिखनेवालेनहींहैंऔरहीहीरोहैं।अगरवोहीरोहोतेतोशायदप्रियंकाउनकेसाथइंटीमेटसीनकरतीं। उन्हें हीरो के साथ इंटीमेट सीन करने में कोई दिक्कत नहीं है। उनके अनुसार, अगर प्रतिभा खिड़की से बाहर जाती है, तो व्यक्ति को सिर्फ अच्छा दिखने की ज़रूरत है।

अपने सह-कलाकार के साक्षात्कार के बारे में बात करते हुए, प्रियंका ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया, मैंनेपढ़ाहैकिअन्नूसरनेकहाथा: ‘मैंअच्छा दिखनेवालानहींहूं, मैंनायकनहींहूं।अगरमुख्यनायकहोता , तोशायदउसने  मेरेसाथअंतरंगदृश्यकियाहोता।

नाराज़ प्रियंका चोपड़ा ने आगे कहा,अगरवहअंतरंगदृश्यकरनाचाहतेहैंऔरइसतरहकीघटियाटिप्पणियांकरनाचाहतेहैं, तोउन्हेंउसतरहकीफ़िल्मेंकरनीचाहिए।ऐसेदृश्यकभीहमारीफ़िल्म काहिस्सानहींथे।

बाद में अन्नू ने कहा कि उन्होंने कभी भी प्रियंका के खिलाफ एक भी शब्द नहीं बोला। अभिनेता ने यह कहते हुए बात को खत्म करने का प्रयास किया कि जबउनसेउनकेपतिकीभूमिकानिभानेकेबारेमेंउनकीभावनाओंकेबारेमेंपूछागया, तोउन्होंनेकहाकिलोगउनकेप्रदर्शनकोयोग्यताकेआधारपरआंकेंगे, किइसआधारपरकिवहप्रियंकायामेरिलस्ट्रीपकेपतिकीभूमिकानिभारहेहैं। प्रियंका को उन्होंने इस सब को ज्यादा गंभीरता से ना लेने की सलाह दी।

अन्नू कपूर ने कहा,बेटा (ठीकहै, मैंउसेप्यारसेबेटाकेरूपमेंसंबोधितकरताहूं), यहसबबहुतगंभीरतासेलें।तनावलें।आपएकअद्भुतअभिनेत्रीहैं।भगवानआपकाभलाकरे।‘”

Advertisements