जयललिता के बारे में 8 रोचक तथ्य

अभिनेत्री से नेत्री बनीं जयललिता को अम्मा के नाम से भी जाना जाता है। उन्होंने 14 वर्षों तक तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया। उनका जन्म 24 फरवरी 1948 को तथा निधन 5 दिसंबर 2016 को हुआ। इस पोस्ट में हम जानेंगे जयललिता के जीवन से सम्बंधित 8 रोचक तथ्य।

1. जब वह एक साल की हुईं तो उनका नाम जयललिता रखा गया। ऐसा कहा जाता है कि जयललिता का यह नाम मैसूर में उनके दो घरों – ‘जय विलास’ और ‘ललिता विलास’ – जहाँ वह रहती थी, के नाम पर रखा गया। जयललिता जब मात्र 3 साल की थीं, तब उन्होंने भारतीय शास्त्रीय नृत्य भरतनाट्यम सीखना शुरू कर दिया था।

2. जयललिता को उनकी अभिनेत्री मां संध्या जिनका असली नाम वेदवती था, ने 15 साल की उम्र में तमिल फ़िल्म इंडस्ट्री में अभिनय करने के लिए मजबूर किया। उन्होंने जब अभिनय की दुनिया में प्रवेश किया, तब वह एक छात्रा थी और राज्य स्तर की टॉपर थीं।

3. जयललिता वकील बनना चाहती थीं लेकिन उनकी पहली फ़िल्म इतनी सफल रही कि वह तमिल फ़िल्म इंडस्ट्री का लोकप्रिय चेहरा बन गईं। जयललिता की पहली फ़िल्म ‘केवल वयस्क’ के रूप में रिलीज़ हुई थी। चूंकि जयललिता की उम्र 18 वर्ष से कम थी, इसलिए उस समय वह अपनी पहली फ़िल्म खुद नहीं देख सकी थी।

4. जयललिता ने 85 तमिल फ़िल्मों में अभिनय किया। इसके अलावा उन्होंने एक हिंदी फ़िल्म ‘इज्जत’ में भी अभिनय किया जो हिट रही थी। इस फ़िल्म में उनके साथ धर्मेन्द्र ने काम किया था।

5. जयललिता राजनीति में अपने सह-कलाकार और मेंटर एमजीआर जो डीएमके के संरक्षक थे, के कहने पर आई थीं। उन्हें प्रचार सचिव बनाया गया था और उनके राजनीति में शामिल होने पर उन्हें राज्यसभा के लिए नामित किया गया था।

6. एक मुख्यमंत्री के रूप में, जयललिता केवल 1 रुपये वेतन के रूप में लिया करती थी। उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में अपना पहला वेतन चेक यह कहकर स्वीकार करने से इनकार कर दिया कि उनके पास “आय के प्रचुर स्रोत हैं और उन्हें वेतन की आवश्यकता नहीं है”। यह कहे जाने पर कि उन्हें लोक सेवक के रूप में वेतन मिलना चाहिए, उन्होंने 1/- रुपये का वेतन स्वीकार किया। इस फैसले ने उन्हें जनता के बीच और भी लोकप्रिय बना दिया।

7. जयललिता 14 वर्षों से अधिक समय तक तमिलनाडु की मुख्यमंत्री रहीं। वर्ष 1995 में मुख्यमंत्री के रूप में अपने पहले कार्यकाल के दौरान, अम्मा ने अपने दत्तक पुत्र सुधाकरन की शादी का एक भव्य आयोजन किया, जो गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है। इस रिकॉर्ड के अनुसार, यह शादी तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में 50 एकड़ के ग्राउंड में की गई थी जिसमें 1.5 लाख से अधिक मेहमानों को आमंत्रित किया गया था।

8. जयललिता एक बार ‘कुंभकोणम’ जिसे दक्षिण भारत का कुंभ मेला कहा जाता है, में महाकम उत्सव में शामिल हुई थीं। अम्मा की एक झलक पाने की कोशिश में भारी भीड़ घटनास्थल पर जमा हो गई थी, जिसके परिणामस्वरूप भगदड़ मच गई जिसमें 50 लोगों की जान चली गई थी।

Advertisements